Home » 10 करोड़ की एंबुलेंस यार्ड में खा रहीं धूल, ठेले पर मरीज़ पहुंच रहे अस्पताल…
बिना श्रेणी स्वास्थ्य हेल्थ इंडस्ट्रीज न्यूज

10 करोड़ की एंबुलेंस यार्ड में खा रहीं धूल, ठेले पर मरीज़ पहुंच रहे अस्पताल…

मध्यप्रदेश में सरकारी सेवाएं वेंटीलेटर पर पहुंच चुकी हैं।  कोई ठेले में मरीज़ को अस्पताल पहुंचा रहा है, तो कोई गोद में मरीज़ को अस्पताल लाने पर मजबूर है। वैसे तो सरकार ने सड़क हादसे में घायलों और गंभीर रूप से बीमार मरीजों को फौरन अस्पताल पहुंचाने के लिए सरकार ने 10 करोड़ 35 लाख रुपये खर्च करके 115 एंबुलेंसें खरीदीं, लेकिन लगभग 6 महीने से ये भोपाल के करीब भौंरी में यार्ड में पड़ी धूल खा रही हैं।  इसके पीछे वजह है फेब्रिकेशन वर्क, यानी एंबुलेंसों में मेडिकल उपकरणों के इंस्टॉलेशन का न होना.. वो भी तब जब इसके लिए 4 करोड़ 60 लाख रुपये अगस्त 2018 में ही स्वीकृत हो गया था.

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन से जुड़े अधिकारी कह रहे हैं कि तकनीकी दिक्कतों की वजह से पहिये रुके थे, अब रफ्तार पकड़ेंगे. एनएचएम के मिशन डायरेक्टर निशांत वरवडे ने कहा “बीच में भारत सरकार एआईएस 125 के नॉर्म्स लाई, जिसको लेकर टेंडर की मीटिंग में सवाल उठाए गए. उनका समाधान करने तक आचार संहिता लग गई और उस बीच चुनाव आयोग से अनुमति नहीं मिली. अब टेंडर खोला गया है बहुत जल्दी गाड़ियां रोड पर आ जाएंगी। अगर आपके यहां भी स्वास्थ सेवाएं नहीं मिल रही हैं या स्वास्थ से संबंधित किसी प्रकार की सलाह चाहते हैं तो हमसे संपर्क करें.. हमसे जुड़ने के लिए यहां click करें

 

 

 

 

 

 

About the author

TheHealthCareToday

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

विशेष रुप से प्रदर्शित

Powered by themekiller.com