Home » Health Industry News » मछली खाने वालों की उम्र होती है दूसरे लोगों से ज्यादा
आहार योजना हेल्थ इंडस्ट्रीज न्यूज

मछली खाने वालों की उम्र होती है दूसरे लोगों से ज्यादा

नई दिल्ली: ओमेगा थ्री फैटी ऐसिड युक्त सालमन, ट्यूना, मैकेरेल और सार्डिन जैसी मछलियों और दूसरे खाद्य पदार्थ जिनमें ओमेगा थ्री फैटी ऐसिड पाया जाता है के सेवन से कैंसर और हृदय संबंधी रोगों से असमय होने वाली मौत का खतरा कम हो जाता है। एक अध्ययन में इस बात का दावा किया गया है। साथ ही मछली खाने से न सिर्फ आपकी आयु बढ़ती है बल्कि क्वॉलिटी ऑफ लाइफ भी बेहतर होती है।

16 साल तक किया गया अध्ययन
इस नए अध्ययन में 2 लाख 40 हजार 729 पुरुष और 1 लाख 80 हजार 580 महिलाओं का 16 साल तक अध्ययन किया गया। इनमें से 54 हजार 230 पुरुषों और 30 हजार 882 महिलाओं की रिसर्च के दौरान मौत हो गई। इस अध्ययन के मुताबिक मछलियों में पाए जाने वाले ओमेगा थ्री फैटी ऐसिड और कुल मृत्यु दर में कमी के बीच महत्त्वपूर्ण संबंध देखा गया।

कुल मृत्यु दर में 9 प्रतिशत की कमी
चीन की जेजियांग यूनिवर्सिटी के शोधार्थियों ने पाया कि जो पुरुष मछली का ज्यादा सेवन करते थे, उनमें कुल मृत्यु दर 9 प्रतिशत कम देखी गई और हृदय संबंधी रोगों से होने वाली मौत में 10 प्रतिशत की कमी दर्ज की गई। साथ ही, उनकी कैंसर से मौत होने की संभावना 6 प्रतिशत तक कम और सांस संबंधी रोग से होने वाली मौत में 20 प्रतिशत की कमी देखी गई। यह अध्ययन इंटर्नल मेडिसिन पत्रिका में प्रकाशित हुआ है।

About the author

TheHealthCareToday

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

विशेष रुप से प्रदर्शित

Powered by themekiller.com