Home » diet for thyroid patient » थायरॉइड से है, परेशान तो करे ये काम मिलेगा आराम!
health related अजब-गज़ब आहार योजना घरेलू नुस्‍खे - Gharelu Nuskhe जवान रहो डाइट और फिटनेस - Diet & Fitness लाइफस्टाइल स्वास्थ्य हेल्थ इंडस्ट्रीज न्यूज

थायरॉइड से है, परेशान तो करे ये काम मिलेगा आराम!

थायरॉइड की बीमारी से काफी लोग पेरशान हैं. थायरॉइड गले में एक एंडोक्राइन गाठ है जो बटरफ्लाई के आकार की होती है. इस गाठ से थायरॉइड हार्मोन निकलता है जो शरीर के मेटाबॉलिज्म को बिलकुल ठीक करता है. यह ग्रंथि हमारे शरीर में आयोडीन की सहायता से हार्मोन बनाता है.

जब यह हार्मोन बेकार हो जाता है तो शरीर में कई समस्याएं होने लगती हैं. जैसे अचानक वजन बढ़ता तो कभी घट जाता है. बीमारी को सही करने के लिए लोग दवाइयों का सहारा लेते हैं लेकिन ये पूरा बन नहीं होता है इस बीमारी के पीछे सबसे बड़ा कारण खानपान है. थायरॉइड को नियंत्रण में करने के लिए डायट का विशेष ध्यान देना होता है. सही डायट लेने पर थायरॉयड की बीमारी पर काबू किया जा सकता है. थायरॉइड की बीमारी महिलाओं में ज्यादा होती है.

डायट

1- थायरॉइड की बीमारी से परेशान लोगों को आयोडीनयुक्त भोजन लेना चाहिए. आयोडीन थायरॉइड ग्रंथि के दुष्प्रभाव को रोकता है.

2- थायरॉयड के रोगी को फल और हरी पत्तेदार सब्जियां खानी चाहिए. हरी पत्तेदार सब्जियां थायरॉयड ग्रंथि के लिए अच्छी होती हैं.इसके अलावा सोया मिल्‍क, टोफू या सोयाबीन का खाने में इस्तेमाल करना चाहिए क्योंकि इसमें पाए जाने वाले रसायन हार्मोन को सुचारू रूप से काम करने में सहायता करते हैं.

3- थायरॉइड के मरीज को वो आहार लेना चाहिए जिसमें आयरन और कॉपर की पर्याप्त मात्रा होनी चाहिए. इसके लिए बादाम, काजू, सूरजमुखी के बीज खाने चाहिए. इसके खाने से थायरॉइड के फंक्‍शन में मदद मिलती है.

4- विटामिन, मिनरल, प्रोटीन और फाइबर से भरपूर अनाज का सेवन करना चाहिए. इसके लिए पुराना चावल, जौ, ब्रेड, पॉपकार्न, दूध, दही को खाना चाहिए. इससे शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है.

5- थायरॉइड के मरीज को मुलेठी खानी चाहिए. इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्‍व थायरॉइड ग्रंथि को संतुलित करने में सहायता करता है.

6- नॉनवेज खाने वाले लोगों को मछली खानी चाहिए क्योंकि मछली में अधिक मात्रा में आयोडीन होता है. खासकर समुद्री मछलियों में अधिक आयोडीन होता है। इसलिए थायरॉइड मरीज को सेलफिश और झींगा खाना चाहिए.

About the author

TheHealthCareToday

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

विशेष रुप से प्रदर्शित

Powered by themekiller.com