Home » best sanitary pads » अब गुरुग्राम कोर्ट में मिलेगा सैनेटरी नैपकिन, महिलाओं को होगा फायदा!
health related Latest Ayurveda News in Hindi - आयुर्वेद ब्रेकिंग न्यूज़ Uncategorized अजब-गज़ब आहार योजना कैंसर गर्भावस्था और परवरिश घरेलू नुस्‍खे - Gharelu Nuskhe जवान रहो डाइट और फिटनेस - Diet & Fitness डायबिटीज डेंटल हेल्थ लाइफस्टाइल स्वास्थ्य हार्ट केयर हेयर और ब्यूटी हेल्थ इंडस्ट्रीज न्यूज

अब गुरुग्राम कोर्ट में मिलेगा सैनेटरी नैपकिन, महिलाओं को होगा फायदा!

आज के समय में कुछ रुपे के लिए लोग सैनिटरी नैपकिन की जगह कपड़ा यूज़ करते है लेकिन अल्पमूल्य की सैनिटरी नैपकिन बनाने वाले ब्रांड नाइन सैनिटरी पैड्स ने गुरुग्राम जिला न्यायालय में तीन सैनिटरी पैड वेंडिंग मशीन लगाने की अपनी नई पहल द्वारा लोगों के दिलों को जीत लिया है. ऐसा उन्होने मासिक धर्म के बारे में रूढिवादी प्रथाओं को तोड़ते हुए मासिक धर्म स्वच्छता के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए चल रहे नाइन मूवमेंट के तहत किया. पीरियड्स और उससे जुड़ी रूढिवादी सोच की वजह से महिलाओं को हर महीने होने वाली शारीरिक परेशानियों को समझने और उनसे सहानुभूति व्यक्त करने के लिए नाइन, गुरूग्राम जिला न्यायालय की कई महिला वकीलों और न्यायाधीशों के पास पहुंचा.

गुरुग्राम जिला न्यायलय के कई महिला और पुरूष वकीलों ने इस प्रगतिशील कदम का स्वागत किया है, साथ ही महिला कार्यबल के लिए इसे क्रांतिकारी कदम बताया है. इसके कार्यरत होने के आरम्भकाल में नाइन सैनिटरी नैपकिन्स की टीम बार एसोसिएशन के अध्यक्ष मिहिर सिंह यादव व बार एसोसिएशन के सचिव कमलजीत के अलावा एडवोकेट विनोद बडगूजर, एडवोकेट कविता चौहान, एडवोकेट बिन्दु भार्गव, एडवोकेट रीना झा और एडवोकेट अरूना आदि लोगों से मिली . गुरूग्राम जिला न्यायालय के वकीलों व जजों ने पहल की प्रशंसा की और ऐसी वेंडिंग मशीनों की अधिक स्थापना को प्रोत्साहित किया . सस्ती कीमत पर सैनिटरी नैपकिन उपलब्ध न होने या सैनिटरी नैपकिन की दुर्गमता के कारण अक्सर ही महिलाओं को स्वास्थ्य संबंधी खतरों का सामना करना पड़ता है .

विकास पर टिप्पणी करते हुए एडवोकेट रीना झा ने कहा कि वकील देर तक लगातार काम करते रहते हैं, जिसमें महिला वकील भी शामिल हैं. इस तरीके के प्रयास हमें यह दिखाते हैं कि प्राधिकारी हमारे साथ सहानुभूति रखते हैं और पीरियड्स जैसे महत्वपूर्ण मुद्दो को सामने लाने में डरते नहीं हैं. सैनिटरी पैड वेंडिंग मशीन लगने से महिलाओं को इन चीजों की चिंता नहीं करनी होगी जिससे वो अपने काम पर और ध्यान दे पाएंगी, जिसकी वजह से महिलाओं की कार्यकुशलता भी बढ़ेगी. एडवोकेट विनोद बडगूजर ने आगे कहा, सैनिटरी नैपकिन वेंडिंग मशीन लगाने का निर्णय महिला कर्मचारियों वाली अन्य सरकारी संस्थाओं के लिए एक मिसाल कायम करता है .

नाइन सैनिटरी नैपकिन के बारे में

नाइन सैनिटरी नैपकिन एक उत्कृष्ट लेकिन अल्पमूल्य की सैनिटरी नैपकिन ब्रांड है जो कि शुद्द प्लस हाईजीन प्रोडक्ट्स द्वारा आरम्भ किया गया था, जिसका मुख्यालय गोरखपुर, उत्तर प्रदेश में स्थित है. कम्पनी ने गोरखपुर में ही नवीनतम मशीनरी और अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी का प्रयोग करते हुए एक सैनिटरी नैपकिन निर्माण यूनिट की स्थापना की. वैश्विक मानकों से समानता रखने के लिए, संयुक्त राष्ट्र अमेरिका के विशेषज्ञों, जिनके पास स्वच्छता और स्वच्छता उत्पादों के क्षेत्र में व्यापक अनुभव है, की सहायता से दो वर्ष से भी ज्यादा समय तक व्यापक शोध करके नाइन सैनिटरी नैपकिन को डिजाइन किया गया है .

नाइन मूवमेंट के बारे में

नाइन मूवमेंट एक महात्वाकांक्षी पंचवर्षीय योजना है जिसका उद्देश्य सभी लिंग व आयु के लोगों को समाहित करते हुए मासिक धर्म से जुड़े हुए रूढ़िवादी विचारों को हटाना और आगे बढ़कर एक साथ मासिक धर्म की स्वच्छताओं के महत्व के बारे में लोगों को जागरूक करना है. लोगों के विचारों को बदलने हेतु सामुहिक प्रयास की जरूरत को समझते हुए, नाइन मूवमेंट भारत के बहु क्षेत्रीय समूहों जैसे सरकारी क्षेत्र, कार्पोरेट क्षेत्र, और एनजीओ को अपने साथ लाना चाहता है. जिसका उद्देश्य न केवल चर्चा करना बल्कि मासिक धर्म स्वच्छता प्रबंधन के लिए सकारात्मक कार्रवाई को प्रोत्साहित करना है. अपने इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए नाइन मूवमेंट के परिवर्तन का सिद्धांत एक त्रिस्तरीय दृष्टिकोण को अपनाता है.

About the author

TheHealthCareToday

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

विशेष रुप से प्रदर्शित

Powered by themekiller.com